Up Coming Events



11 एवं 12 जनवरी 2017 को एक दिवसीय प्रशिक्षण

11 एवं 12 जनवरी 2017 को भोपाल में फेडरेशन की महिला पदाधिकारियों एवं संघमित्र सदस्यों के लिए एक दिवसीय प्रशिक्षण का आयोजन किया जा रहा है। "उन्नत कृषि एवं उससे लाभ" विषय पर 11 जनवरी को डिंडौरी, मंडला एवं बालाघाट तथा 12 जनवरी को पन्ना, छतरपुर एवं टीकमगढ़ जिले इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में शामिल होंगे।

11 एवं 12 जनवरी 2017 को एक्सपोज़र विजिट

11 जनवरी 2017 को पन्ना, छतरपुर एवं टीकमगढ़ जिले के फेडरेशन की महिला पदाधिकारी एवं संघमित्र की एक्सपोज़र विजिट इकार्डा अम्लाह सीहोर में होने जा रही है। 12 जनवरी 2017 को इकार्डा, अम्लाहा सीहोर में ही डिंडौरी, बालाघाट तथा मंडला जिले के फेडरेशन की महिला पदाधिकारी एवं संघमित्रा की एक्सपोज़र विजिट आयोजित होगी।

तेजस्विनी संघ की क्षेत्रीय त्रैमासिक बैठक का आयोजन 08 नवंबर 2016 को

JRM के Aid Memoire में दिए गए Agreed Action Plan अंतर्गत प्रत्येक त्रैमास में संघों की क्षेत्रीय बैठक का आयोजन तृतीय त्रैमास से प्रारंभ किए जाने के निर्णयानुसार, प्रथम बैठक 08 नवंबर 2016 को आयोजित की जाएगी। पन्ना, छतरपुर, टीकमगढ़ की बैठक पन्ना में तथा डिंडौरी, मंडला एवं बालाघाट की बैठक अमरकंटक में आयोजित की जाएगी।

दिनांक 26 अक्टूबर 2016 को राज्य कार्यालय में बैठक

वर्ष 2013-14, 2014-15 एवं 2015-16 के SHG ऑडिल हाल ही में आर.एम.बेल्लानी एंड कंपनी द्वारा पूर्ण किया गया है। ऑडिट के निष्कर्षों पर दिनांक 26-10-2016 को राज्य कार्यालय में प्रात: 10.30 बजे महाप्रबंधक, तेजस्विनी प्रबंधक तथा तेजस्विनी के समस्त छह जिला कार्यक्रम प्रबंधकों की बैठक आयोजित।

IFAD Followup Mission

The IFAD Followup Mission will be on visit of Madhya Pradesh between 28th aug. to 2nd sept. Miss Rasha Omar Country Director, Miss Meera Mishra Country Coordinator and Mr Pratul Dubey will be there to followup the mission.

JOINT REVIEW MISSION - 9, IFAD TEAM WILL BE ON VISIT OF TEJASWINI DISTRICTS

The IFAD team wiil visit the Tejaswini districts between 23 April to 27 April. Team will review the physical and financial progress of the project, access progress in implementation of yhe livelihoods component of the programme.Review status of federations after the transfer of management from NGOs and identify good practices and success stories.